राजस्थान के भौतिक विभाग

राजस्थान के भौतिक विभाग पृथ्वी अपने निर्माण के प्रराम्भिक काल में एक विशाल भू-खण्ड पैंजिया तथा एक विशाल महासागर पैंथालासा के रूप में विभक्त था कलांन्तर में पैंजिया के दो टुकडे़ हुए उत्तरी भाग अंगारालैण्ड तथा दक्षिणी भाग गोडवानालैण्ड के नाम जाना जाने लगा। तथा इन दोनों भू-खण्डों के मध्य का सागरीय क्षेत्र टेथिस सागर […]

राजस्थान के प्रमुख साहित्यकार एवं उनकी रचनाए

“राजस्थान के प्रमुख साहित्यकार एवं उनकी रचनाएं” चंदवरदाई = ‘पृथ्वीराज रासौ’ शिवदास गाडण (चारण) = ‘अचलदास खींची री वचनिका’ सूर्य मिश्रण = ‘वंशभास्कर‘ व ‘वीर सतसई’ गिरधर आसिया = ‘सगत रासो’ कवि कलोल = ‘ढोला मारू रा दूहा’ मुहणोत = ‘नैणसी री ख्यात’ व ‘मारवाड़ रा परगना री विगत’ जग्गा खिडि़या = ‘राठौड़ रतनसिंह महेस […]